Bhagwan Naam Mahatmya ( Ram Naam Lekhan Book )

10.00

2153 Bhagwaanam Mahatmay (28860 Naam – Jaap) Ram Naam Writing Book by Gita Press, Gorakhpur

‘कलियुग में केवल श्रीहरि का नाम ही- हरिका नाम ही— हरिका नाम ही परम कल्याण करने वाला है, इसको छोड़कर अन्य कोई उपाय नहीं है।’

When devotees start writing on this notebook as a daily habit. He feels the greatness of Lord Ram.

You can write 28860 times “Ram” on this notebook.

Description

This notebook is for writing the name of Lord Ram. Which is the only way to salvation. When a devotee writes a page or some pages per day, during the writing he/she directly or indirectly chants the name of Lord Ram.

Remember there is nothing great than the name of Lord Ram, even Lord Shiva chants the name of Lord Ram always.

When devotees start writing on this notebook as a daily habit. He feels the greatness of Lord Ram.

You can write 28860 times “Ram” on this notebook.

‘कलियुग में केवल श्रीहरि का नाम ही- हरिका नाम ही— हरिका नाम ही परम कल्याण करने वाला है, इसको छोड़कर अन्य कोई उपाय नहीं है।’

इसका यही अभिप्राय है कि कर्म, योग, ज्ञान आदि साधनों का साङ्गोपाङ्ग सम्पन्न होना इस युग में अत्यन्त ही कठिन है। फिर, भगवन्नाम बड़ा ही सुगम साधन है; इसके सभी अधिकारी हैं, सभी इसको समझ सकते हैं, यह सबको सुलभ है, मूर्ख से मूर्ख मनुष्य भी नाम का जप-कीर्तन कर सकते हैं। इसमें न कोई खर्च है, न परिश्रम है। किसी प्रकार की बाधा भी नहीं है।

Brand

Brand

Geetapress Gorakhpur

Additional information
Weight 55 g
Dimensions 20 × 13.5 cm
Reviews (0)

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Bhagwan Naam Mahatmya ( Ram Naam Lekhan Book )”
Review now to get coupon!

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 11 =