-14%

Chinta Haran Panchang 2021-22

60.00 70.00

Chinta Haran Panchang Samvat 2077-78  (Year 2021-22)

चिन्ताहरण जंत्री, चिन्ताहरण पंचांग ये दोनों हिन्दी भाषा में प्रकाशित भारत की एक लोकप्रिय जन्त्री पंचांग है। चिन्ताहरण जंत्री के आदि प्रवर्तक श्री पं.बचान प्रसान त्रिपाठी रमलाचार्यजी महाराज ने अपने करमकलों द्वारा ५५ वर्षों से अधिक पहले इसका शुभारम्भ किया था तब से आज तक इस जंत्री का प्रकाशन सुचारु रूप से हो रहा है, आज से ३० वर्ष पहले इसके बृहन्न संस्करण के रूप में चिन्ताहरण पंचांग प्रकाशित किया गया था, जो आज भी प्रकाशित हो रहा है वर्तमान में चिन्ताहरण जंत्री एवं चिन्ताहरण पंचांग के सम्पादक-मृत्युञ्जय त्रिपाठी हैं। इस जंत्री एवं पंचांग में आपको वे सभी विषय मिलेंगे जो पिछले १० से ३० वर्ष पहले के जंत्री व पंचांग में मिलते थे|

Chinta Haran Panchang Samvat 2077-78  (Year 2021-22)

चिन्ताहरण जंत्री, चिन्ताहरण पंचांग ये दोनों हिन्दी भाषा में प्रकाशित भारत की एक लोकप्रिय जन्त्री पंचांग है। चिन्ताहरण जंत्री के आदि प्रवर्तक श्री पं.बचान प्रसान त्रिपाठी रमलाचार्यजी महाराज ने अपने करमकलों द्वारा ५५ वर्षों से अधिक पहले इसका शुभारम्भ किया था तब से आज तक इस जंत्री का प्रकाशन सुचारु रूप से हो रहा है, आज से ३० वर्ष पहले इसके बृहन्न संस्करण के रूप में चिन्ताहरण पंचांग प्रकाशित किया गया था, जो आज भी प्रकाशित हो रहा है वर्तमान में चिन्ताहरण जंत्री एवं चिन्ताहरण पंचांग के सम्पादक-मृत्युञ्जय त्रिपाठी हैं। इस जंत्री एवं पंचांग में आपको वे सभी विषय मिलेंगे जो पिछले १० से ३० वर्ष पहले के जंत्री व पंचांग में मिलते थे|

Weight 206 g
Dimensions 24 × 17 × .7 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Chinta Haran Panchang 2021-22”
Review now to get coupon!

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − one =