Nakshatra Vigyan in Hindi

95.00

Nakshatra Vigyan Book (Hindi) by Madhukar Gopal Nene, Dr. Surkant Jha

आकाश दर्शन क्रम में ताराओं का ज्ञान, वर्गीकृत आकाशीय नक्सा तथा अनेक सारिणीयों से युक्त; सभी वर्ग व स्तर के पाठकों के ज्ञान को विस्तार और उनको आत्मिक आनन्द प्रदान करने में सक्षम

Publisher: CHOWKHAMBA, VARANASI

वेङ्कटेश बापूजी केतकर प्रणीत नक्षत्र विज्ञान

Nakshatra Vigyan in Hindi

Knowledge of stars in the order of the sky, containing classified celestial maps and many tables; Able to expand the knowledge of readers of all classes and levels and provide spiritual joy to them

अनुवादक-मधुकर गोपाल नेने

संशोधक एवं सम्पादक-डॉ. सुरकान्त झा ‘ज्योतिषशासाचार्य

चौखम्बा संस्कृत सीरीज आफिस, वाराणसी

अनुक्रमणिका

तारों के रंग

आकाश गङ्गा सम्बद्ध तारें

रूपविकारी तारे

नवीन तारा

उल्का

उपोद्घात, मानचित्र की रचना

स्वस्य पदार्थों के दर्शन

आकाश के विभाग तथा तारामण्डल ग्रीक वर्णमाला

इच्छित समय में आकाश-दर्शन ११-१३| क्रान्ति तेज

नक्शा में क्षितिज रेखा का निश्चितीकरण

नक्शा में ध्यान रखने योग्य बातें

खगोल का स्थान निर्देश

नक्षत्रपुञ्ज तथा ताराएँ व उसकी पहचान

तारा सम्बन्धिज्ञान और उसका गणित

तारों की प्रती और संख्या

ताराओं के अन्तर

ताराओं की निजगति

गेगेनशाईन नित्य उदय व अस्त ३९ नक्षत्रों के दिनार्ध

अलगोल ताराओं की तेजोहानि ताराओं

मिरा तारा का परमचकाकी का दिन

आकाश व पञ्चाङ्ग, इनका सम्बन्ध केतकी पञ्चाङ्ग

तारा के वेध से कालज्ञान विपुषसंताप का विलोम

गति के परिणाम

अगस्त्य का समुद्र-प्राशन

सारिणियाँ व मानचित्र

 

Weight 90 g
Dimensions 21.5 × 13.5 × .5 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Nakshatra Vigyan in Hindi”
Review now to get coupon!

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen − 10 =